कोरोना, आखिर क्यों?

 

*जब शुरुआती दौर में कोरोना महाराष्ट्र और दिल्ली तक सीमित था तब उन्हें पूरी तरह बंद करके और वहां से आने जाने वालो की लगातार टेस्टिंग के जरिये कोरोना को काफी हद तक रोका जा सकता था, लेकिन तब सरकार जे विभिन्न राज्यों में विधानसभा और पंचायत चुनाव चल रहे थे चुनाव में लाखों की रैलियां हुईं , मतदान में लंबी लाइन लगवाई गयी ,  मतगणना में लाखों कर्मचारियों की  जिंदगी दांव में लगाई गई । इसके बाद चुनाव खत्म होते ही पाबंदियां शुरू , वाहन बंद , दुकाने बंद , छोटा - मोटा व्यापार करके पेट रोज रोटी का इंतजाम करने वालों का निवाला बंद । वाह रे सरकार*


*अमीर अपनी बैंक में जमा पूंजी से खा लेगा , गरीब को थोड़ा बहुत राशन आप दे दोगे लेकिन 50 प्रतिशत मिडिल क्लास का क्या होगा ?*

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ